पेट्रोल पंप मालिकों को छापेमारी से डराकर करवाई गई हड़तालः AK

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की मांग की। उन्होंने बीजेपी पर पेट्रोल पंप मालिकों को हड़ताल पर जाने के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया।

केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘बीजेपी ने पेट्रोल वालों को धमकी दी है कि जो आज हड़ताल नहीं करेगा, उस पर इनकम टैक्स की रेड कराई जाएगी।’ उन्होंने कहा कि तेल कंपनियों ने भी धमकी दी है कि जो पेट्रोल पंप हड़ताल नहीं करेगा, उसके खिलाफ सख्त ऐक्शन होगा।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर कहा कि बीजेपी दिल्ली वालों को तंग करना बंद करे। ये दिनदहाड़े गुंडागर्दी बंद करे। उन्होंने ट्वीट किया, ‘चार मेट्रो शहरों की तुलना में दिल्ली में तेल के दाम सबसे कम हैं। मुंबई में दाम सबसे अधिक हैं, वहां के पेट्रोल पंप हड़ताल पर क्यों नहीं जा रहे हैं? क्योंकि मुंबई में बीजेपी की सरकार है और बीजेपी ही दिल्ली में आज की हड़ताल के पीछे है। बीजेपी को दिल्ली के लोगों से माफी मांगनी चाहिए।’

केजरीवाल ने पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाए जाने की मांग भी की और केंद्र सरकार को पेट्रोल की कीमत बढ़ाने के लिए जिम्मेदार ठहाराया। पेट्रोल-डीजल को अब तक जीएसटी के दायरे में न लाए जाने के मसले पर सवाल उठाते हुए उन्होंने एक और ट्वीट में कहा, ‘पिछले चार सालों में पेट्रोल पर अनाप-शनाप टैक्स मोदी जी ने लगाया है, हमने नहीं लगाया। मोदी जी टैक्स कम करें और जनता को राहत दें। हम मांग करते हैं कि पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया जाए।’

साभार: नवभारत टाइम्स

Leave a Reply