अब चक्कर काटने की ज़रूरत नहीं, दिल्ली में ऑनलाइन बनेंगे बस पास

दिल्ली सरकार ने आम जनता के लिए सुविधाओं को आगे बढ़ाते हुए अब ऑनलाइन डीटीसी बस पास फैसिलिटी शुरू कर दी है। ट्रांसपॉर्ट मिनिस्टर कैलाश गहलोत ने ऑनलाइन बस पास सिस्टम की शुरुआत करते हुए बताया कि एक साल में डीटीसी के करीब 25 लाख पास बनाए जाते हैं, जिनमें से 9 लाख जनरल पास होते हैं।

डीटीसी के एमडी मनोज कुमार ने बताया कि डीटीसी ने यह बड़ा प्रयोग शुरू कर दिया है, जिसके अंतर्गत ऑनलाइन अप्लाई करने के बाद 5 कार्य दिवस में बस पास घर पर पहुंच जाएगा। फॉर्म रिजेक्ट होने की स्थिति में यूज़र को एमएमएस या फोन के जरिए इस बारे में जानकारी भी दी जाएगी।

ट्रांसपॉर्ट कमिश्नर वर्षा जोशी के अनुसार पिछले एक साल में ट्रांसपॉर्ट सिस्टम को ऑनलाइन किया गया है और इससे आम जनता को बहुत फायदा हो रहा है। उन्होंने बताया कि फर्स्ट फेज में डीटीसी के जनरल पास ऑनलाइन बनेंगे।

जनरल ऑल रूट पास, एयरपोर्ट एक्सप्रेस सर्विसेज और दिल्ली एनसीआर एयरपोर्ट, दिल्ली से एनसीआर टाउन (गुरुग्राम, फरीदाबाद, बहादुरगढ़, गाजियाबाद) के पास ऑनलाइन बन सकेंगे। ट्रांसपॉर्ट मिनिस्टर ने बताया कि स्टूडेंट्स पास में स्कूल के प्रिंसिपल से डॉक्युमेंट वेरिफाई करवाने होते हैं और सीनियर सिटिजन पास में भी डॉक्युमेंट वेरिफिकेशन होता है। अगले राउंड में पूरे पास सिस्टम को ऑनलाइन के दायरे में लाया जाएगा।

डीटीसी की वेबसाइट www.dtcpass.delhi.gov.in पर जाकर अप्लाई करना होगा। नाम, पिता का नाम, जन्मतिथि और दूसरी जानकारी भरने के बाद पोर्टल पर फोटो अपलोड करनी होगी। पिन कोड, ईमेल और मोबाइल नंबर देना होगा क्योंकि डीटीसी की ओर से पास को लेकर जानकारी भेजी जाएगी। उसके बाद पेमेंट गेटवे पर जाकर डेबिट, क्रेडिट कार्ड या नेट बैंकिंग से पेमेंट करनी होगी। पेमेंट होने के बाद एमएमएस और ईमेल के जरिए कंफर्मेशन भेजी जाएगी। पांच दिनों में पास घर आ जाएगा। पास को www.indiapost.gov.in पर जाकर डिस्पैच डिटेल देखी जा सकती है। बस पास के लिए 24 घंटे में कभी भी अप्लाई किया जा सकता है। पास की कीमत के अलावा 15 रुपये प्रिंटिंग चार्ज और 18 रुपये पोस्ट के चार्ज देने होंगे।

ट्रांसपॉर्ट मिनिस्टर कैलाश गहलोत ने कहा कि ट्रांसपॉर्ट सिस्टम में बड़े बदलाव किए जा रहे हैं। कॉमन मोबिलिटी कार्ड लागू किया गया है और अब मेट्रो कार्ड से बसों में सफर किया जा सकता है। 10 पर्सेंट डिस्काउंट भी मिल रहा है। आने वाले समय में कॉमन कार्ड को डीटीसी बस पास की तरह प्रयोग किए जाने पर भी विचार किया जा रहा है। सरकार चाहती है कि पब्लिक ट्रांसपॉर्ट सिस्टम के लिए एक कार्ड सिस्टम को पूरी तरह से लागू किया जाए। बस पास कैंसल कराने पर किसी भी बस पास सेक्शन पर ओरिजनल पास को वापस किया जा सकता है और सिक्यॉरिटी अमाउंट को बैंक में ट्रांसफर कर दिया जाएगा। डीटीसी पास के फॉर्मेट में बदलाव किया जाएगा। बस पास पर एक्सपाइरी डेट फॉन्ट साइज को बढ़ाया जाएगा। सरकार अब कॉमन मोबिलिटी कार्ड को डेली डीटीसी बस पास से जोड़ने पर भी विचार कर रही है। जिस तरह से कॉमन मोबिलिटी कार्ड से डीटीसी बसों में सफर किया जा सकता है, उसी तरह से कॉमन कार्ड से डेली बस पास भी बनाए जाने पर विचार किया जा रहा है।

साभार: नवभारत टाइम्स

Leave a Reply